देस की बात : केंद्र ने कृषि कानूनों की वापसी का नहीं दिया संकेत, MSP पर भी खामोशी



किसानों और केंद्र सरकार के बीच बुधवार को छठे दौर की वार्ता हुई. इसमें किसानों ने नए कृषि कानून लागू करने के बाद हुई धोखाधड़ी की घटनाओं को पूरा पुलिंदा सामने रखा. किसान नेता बलदेव सिंह सिरसा का कहना है कि कृषि कानूनों लागू होने के बाद इसमें कई खामियां नजर आई हैं. इन्हें भी सामने रखा जाएगा. सिरसा ने होशंगाबाद, गुना में ऐसी कई घटनाएं हुई हैं, जिनमें नए कानून के तहत किसानों के साथ ठगी हुई है. किसान MSP पर कानूनी गारंटी की मांग भी उठाएंगे. कई अन्य किसान नेताओं ने 200 ऐसे मामले में इकट्ठा किए हैं, जिनमें किसान से डील की गई, लेकिन बाद में कंपनियां ठगी कर फरार हो गईं. ऐसे में गतिरोध हल होने के आसार नहीं दिख रहे हैं.