Career News



अब 10वीं और 12वीं की परीक्षा होगी एक ही दिन, CBSC बोर्ड ने दिया आदेश

सीबीएसई बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा एक ही दिन कराने की तैयारी में है। परीक्षा की तिथि समान होगी जबकि परीक्षा का समय बदला रहेगा, यानी दसवीं कक्षा की परीक्षा सुबह पाली में तो इंटर की परीक्षा दूसरी पाली में होगी। सीबीएसई के इस कदम से परीक्षा की अवधि भी कम होगी और शिक्षकों को आंसर शीट्स चेक करने के लिए भी अतिरिक्त समय मिलेगा। एक तारीख पर दोनों परीक्षाएं लेने का फैसला हाल ही में देश के टॉप स्कूलों के प्रिंसिपलों के साथ हुई बैठक में लिया गया है।  देश के सबसे बड़े सीबीएसई बोर्ड के साथ 18,000 से अधिक संस्थान जुड़े हुए हैं जहां पर 1 मार्च से आम तौर पर ये दोनों परीक्षाएं होती हैं। कई बार विधानसभा चुनाव का असर भी इन परीक्षाओं पर पड़ता है। विषयों की एक सारिणी और दो कक्षाओं के लिए अलग-अलग समय सारिणी होने के कारण दोनों परीक्षाओं के संचालन में करीब 45 दिन लग जाते हैं। इस बाबत बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि परीक्षा एक तारीख होने पर पेपर चेक करने के लिए अधिक समय मिल पाएगा। वैसे बोर्ड की योजना 12वीं की सुबह और 10वीं की दोपहर को करवाने की है।



शिक्षा कौशल के बिना लाखों को नहीं मिल पायेगी नौकरी

शिक्षा के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत ने चेताया है कि वर्षों तक ध्यान नहीं देने के कारण 26 करोड़ बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया है और 40 करोड़ बच्चे कार्यात्मक रूप से निरक्षर रह गए और अगर शिक्षा को वित्त पोषित करने के बेहतर तरीके नहीं खोजे गए तो 80 करोड़ और युवा 2030 तक नौकरी पाने के लिए जरूरी कौशल सीखे बिना स्कूल छोड़ देंगे। गॉर्डन ब्राउन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह दुनिया में 1.6 खरब बच्चों का आधा है। उन्होंने कहा कि अगर अभी कदम नहीं उठाए गए तो संयुक्त राष्ट्र का 2030 तक हर बच्चे को माध्यमिक स्कूली शिक्षा सुनिश्चित करने का लक्ष्य 2050 या 2100 तक पूरा नहीं हो सकेेगा। ब्राउन ने नए ‘इंटरनेशनल फाइनेंस फैसिलिटी फॉर एजुकेशन’ बनाने का प्रस्ताव किया है। उनके मुताबिक यह शिक्षा में सालाना तौर पर करीब 10 खबर अमेरिकी डॉलर के निवेश करने के रास्ते खोलेगा और 2030 तक संयुक्त राष्ट्र का लक्ष्य हासिल करने में मदद करेगा।